लिक्विड ऑक्सीजन क्या है ? – लिक्विड ऑक्सीजन कैसे बनता है | Liquid Oxygen Kya Hai – Liquid Oxygen kaise banta hai

Liquid oxygen Medical , Liquid Oxygen Kya Hai , Liquid Oxygen kaise banta hai , Medical Liquid Oxygen Kya Hai , Medical Liquid Oxygen kaise banta hai , Medical oxygen Plant in india , Oxygen Plant in india , what is liquid oxygen in Hindi , liquid oxygen full details

लिक्विड ऑक्सीजन क्या है ? – Liquid Oxygen Kya Hai

वातावरण से ऑक्सीजन को खींचकर क्रायोजेनिक डिस्टिलेशन प्रोसेस के जरिए लिक्विड के रूप में तैयार किया जाता है , इसमें से अन्य गैसों को अलग किया जाता है । फिर इस लिक्विड ऑक्सीजन की टैंकर के जरिए सप्लाई होती है । फिर छोटे प्लांटों में ऑक्सीजन को गैस में बदलकर सिलेंडर भरे जाते हैं ।

मेडिकल ऑक्सीजन कैसे बनती है ? Medical Oxygen Gas Kaise Banta Hai

ऑक्सीजन गैस क्रायोजेनिक डिस्टिलेशन प्रोसेस के जरिए बनती है, इस प्रक्रिया में सबसे पहले हवा को फिल्टर किया जाता है, ताकि धूल और मिट्टी को हटाया जा सके। उसके बाद कई चरणों में हवा को कंप्रेस (भारी दबाव डालना) किया जाता है। उसके बाद कंप्रेस हो चुकी हवा को मॉलीक्यूलर छलनी एडजॉर्बर (adsorber) से ट्रीट किया जाता है, ताकि हवा में मौजूद पानी के कण, कार्बन डाई ऑक्साइड और हाइड्रोकार्बन को अलग किया जा सके।

Liquid Oxygen kaise banta hai

इस पूरी प्रक्रिया से गुजरने के बाद कंप्रेस हो चुकी हवा डिस्टिलेशन कॉलम में जाती है, जहां पहले इसे ठंडा किया जाता है। यह प्रक्रिया एक plate fin heat exchanger & expansion turbine के जरिए होती है । और इसके बाद 185 डिग्री C° (ऑक्सीजन का उबलने का स्तर) पर उसे गर्म किया जाता है, जिससे उसे डिस्टिल्ड किया जाता है। बता दें कि डिस्टिल्ड की प्रक्रिया में पानी को उबाला जाता है और उसकी भाप को कंडेंस कर के जमा कर लिया जाता है। इस प्रक्रिया को अलग अलग स्टेज में कई बार किया जाता है, जिससे नाइट्रोजन, ऑक्सीजन और अर्गन जैसी गैसें अलग अलग हो जाती हैं। इसी प्रक्रिया के बाद लिक्विड ऑक्सीजन और गैस ऑक्सीजन मिलती है।

कोरोना वैक्सीन लगने के बाद क्या होता है ? – Corona vaccine side effects in india Hindi | Corona Vaccine Side effects

लिक्विड ऑक्सीजन कैसे बनता है | Liquid Oxygen kaise banta hai

ऑक्सीजन प्लांट में सबसे पहले हवा में से ऑक्सीजन को अलग कर लिया जाता है , इसके लिए एयर सेपरेशन की तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है । यानी कि हवा को कंप्रेस किया जाता है , फिर फिल्टर किया जाता है, ताकि अशुद्धियां उसमें से निकल जाएं । अब इस फिल्टर हुई हवा को ठंडा किया जाता है । इसके बाद इस हवा को डिस्टिल किया जाता है, ताकि ऑक्सीजन को बाकी गैसों ( नाइट्रोजन और अर्गन ) से अलग किया जा सके । इस प्रक्रिया में ऑक्सीजन लिक्विड बन जाती है और इसी स्थिति में ही उसे इकट्ठा किया जाता है । इस तरह लिक्विड ऑक्सीजन तैयार किया जाता है ।

Isolation Ward in Hindi – कोरोना वायरस के मरीजों को रखे जाने वाले आइसोलेशन वार्ड कैसा होता है | isolation ward meaning in Hindi

Oxygen Plant in india

भारत में एक दो नहीं, बल्कि बहुत सारी कंपनियां हैं जो ऑक्सीजन गैस बनाती हैं , ऑक्सीजन बनाने वाली कुछ कंपनियां ये हैं, जैसा कि नीचे दिए गए हैं :-

  • ऐलनबरी इंडस्ट्रियल गैसेज़ लिमिटेड (Ellenbarrie Industrial Gases Ltd.)
  • नेशनल ऑक्सीजन लिमिटेड (National Oxygen Ltd.)
  • भगवती ऑक्सीजन लिमिटेड (Bhagawati Oxygen Ltd.)
  • गगन गैसेज़ लिमिटेड (Gagan Gases Ltd.)
  • लिंडे इंडिया लिमिटेड (Linde India Ltd.)
  • रीफेक्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Refex Industries Ltd.)
  • आइनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (Inox Air Products Limited)

Remdesivir injection in Hindi – Remdesivir injection kya Hota Hai | Remdesivir injection ki jankari in Hindi

Conclusion :-

नमस्कार दोस्तों आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको लिक्विड ऑक्सीजन कैसे बनता है | Liquid Oxygen kaise banta hai के बारे में विस्तार से जाना , आशा करते हैं कि दी गई जानकारी आपको अच्छी लगे हैं । अगर दी गई जानकारी आपको अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद

As you know blogging is one of the top most sought after skills in 2021 to make money online.  हिंदी में ब्लॉगिंग से संबंधित जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर आइये | हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें । ♥️ Career JANKARI आपका स्वागत करता है। धन्यवाद !!!

Leave a Reply