मोबाइल फोन क्या है? – मोबाइल फोन का आविष्कार लाभ तथा नुकसान | Mobile Phone Kya Hai – Essay on Mobile Phone in Hindi

0
44

Mobile Phone Kya Hai , Mobile Phone Benifits , Mobile Phone loss , Essay on Mobile Phone in Hindi , Mobile Phone essay in Hindi , Mobile Phone history , Mobile Phone kya hota Hai , Mobile Phone in Hindi , Full Form of Mobile Phone , Mobile Phone full Form

Mobile Phone Kya Hai – Essay on Mobile Phone in Hindi

Hii दोस्तों आज हम बात कर रहे हैं मोबाइल फ़ोन की, मोबाइल फ़ोन हमारा एक ऐसा दोस्त है जो 24 घंटे हमारे साथ साथ रहता है। मोबाइल हमारा एक ऐसा सीक्रेट पार्टनर है जिसे हमारे जीवन से जुड़ी सभी सीक्रेट बाते पता होती है। जहां तक मुझे लगता है की आप 1 महीने क्या आप एक दिन भी मोबाइल फोन को बिना यूज किए नहीं रह सकते क्योंकि यह हमारी दैनिक जिंदगी का एक हिस्सा बन चुका है।आइये दोस्तों आज हम आपको मोबाइल के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे, तो दोस्तों पूरी जानकारी के लिए पढ़िये इस टॉपिक को।

Essay on Mobile Phone in Hindi

What is Mobile Phone ? Who is the real inventor of mobile? Use of mobile and disadvantages of mobile explain in Hindi :-

आज के जमाने में मोबाइल फ़ोन हमारी जिंदगी का एक अभिन्न अंग बन गया है, इसके बिना रहना शायद एक भयंकर सपने के सामान है। इसके आविष्कार ने पूरी दुनिया में एक क्रन्तिकारी परिवर्तन ला कर रख दिया है। आज मोबाइल फोन होने के कारण मिनटों में हम दुनिया के किसी भी कोने में बैठे आदमी से बातचीत कर सकते है। मोबाइल का शाब्दिक अर्थ चलता फिरता है। आजकल के मोबाइल फोन में एक दूसरे से बातचीत कर सकते है, मैसेज भेज सकते है, वीडियो देख सकते है इनमें लगे कैमरा से कोई भी फोटो ले सकते है और साथ ही इंटरनेट भी चला सकते है जहां पर हम दुनियाभर की जानकारी ले सकते है।

मोबाइल फ़ोन का आविष्कार मानव जाति के लिए वरदान है। जिसने पूरी दुनिया का नक्शा ही बदल दिया है इसके कारण लोगों की सोचने समझने का तरीका ही बदल गया है. दुनिया में सभी के पास आजकल मोबाइल है और वर्तमान में तो मोबाइल फोन को स्मार्टफोन का रूप दे दिया गया है जिससे इसको मिनी कंप्यूटर भी कहा जाने लगा है।

मोबाइल फोन क्या है ?

मोबाइल फ़ोन एक ऐसा वायरलेस हैंडहेल्ड डिवाइस है, जिसके माध्यम से आप आसानी से एक दूसरे से बातचीत कर सकते है। जिसका प्रयोग ध्वनि तरंगों  के संचार के लिए किया जाता है | यह एक लंबी दूरी का इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है। इस डिवाइस का उपयोग न सिर्फ बातचीत करने के लिए किया करते है बल्कि मोबाइल फ़ोन का प्रयोग संदेश भेजने में, Email करने में, इंटरनेटआदि ऑनलाइन कार्यों में भी करते है। मोबाइल फ़ोन को Cell Phone, Cellular Phone, Wireless Phone जैसे अलग अलग नामों से भी जाना जाता है।

जब सबसे पहला मोबाइल फोन पेश किया गया उसका एकमात्र कार्य Call करना और Call प्राप्त करना था और वे इतने भारी थे कि उन्हें जेब में रखना असंभव था. बाद में, ग्लोबल सिस्टम फ़ॉर मोबाइल कम्युनिकेशंस (GSM) नेटवर्क से संबंधित मोबाइल फ़ोन Text संदेश भेजने और प्राप्त करने में सक्षम हो गए। मोबाइल फोन एक ऐसा डिवाइस है. जिसमें कई लोग आपस में मिलकर या अलग अलग बहुत दूरी तक वायरलेस कम्युनिकेशन के माध्यम से बात कर सकते हैं, मैसेज भेज सकते हैं और भी कई सारे कार्य कर सकते हैं

मोबाइल का फुल फॉर्म ( Mobile ka full form) :-

मोबाइल का फुल फॉर्म Modified Operation Byte Integration Limited Energy होता है। जिसको हिंदी में “दूरभाष यंत्र” भी कहा जाता है।

मोबाइल का आविष्कार किसने किया ?

दुनिया में  सबसे पहला मोबाइल फोन मार्टिन कूपर द्वारा 1973 में लांच किया गया था। मार्टिन उस समय Motorola company में काम करते थे और उनके इसी खोज की बदौलत communication फील्ड में एक क्रांति ला दी, जो आज के समय  में एक से बढ़कर एक अपडेटेड टैकनोलजी वाले  मोबाइल फोन मिल रहे हैं जिसका वजन बहुत कम है। लेकिन जब पहला मोबाइल फोन हमारे बीच आया था तो उस मोबाइल फोन वजन लगभग 2KG था ।इसके पश्चात 1983 में मोटोरोला का ही Dynatac 8000X मॉडल आया जिसकी बैटरी को एक बार चार्ज कर करीब 35 मिनट तक बात की जा सकती थी। उनके इस आविष्कार से संचार क्षेत्र में एक क्रांति आ गई। जो आज के समय मे लोगो के लिए ये एक वरदान है।

नई तकनीक को तरंगों या पीढ़ियों की एक श्रृंखला में विकसित और रोल आउट किया गया है। “पीढ़ी” शब्दावली केवल व्यापक रूप से उपयोग की जाती है जब 3जी लॉन्च किया गया था, लेकिन अब पूर्ववर्ती प्रणालियों का जिक्र करते हुए अब इसका उपयोग पूर्वव्यापी रूप से किया जाता है। आज के समय में दुनिया के दो तिहाई आबादी मोबाइल फोन से कनेक्टेड है। अनुमानित तौर पर बात करें तो 500 करोड़ से भी ज्यादा लोग आज के समय में मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं। थोड़े समय पहले तक तो सिर्फ मोबाइल फोन ही थे अब तो स्मार्टफोंस में मोबाइल फोन को भी बदल दिया है. स्मार्टफोन के आने के बाद भारत देश की सालाना ग्रोथ 16% की दर से आगे बढ़ रही है। दी गई जानकारी के अनुसार भारत देश में 35 करोड से भी ज्यादा लोग स्मार्टफोंस यूज करते हैं।

मोबाइल से लाभ ( Benifits of Mobile) :-

(1) मोबाइल का सीधा संबंध टेलीफ़ोन से है जो कि लैंड लाइन टेलीफ़ोन से बिलकुल अलग है। इसे पर्स में या जेब में डालकर कहीं भी ले जाया जा सकता है । इसकी मुख्य विशेषता है कि यह तारों से न जुड़ कर बिना तार के नेटवर्क से जुड़ा होता है। मोबाइल फोन आज इतने उपयोगी हो गए हैं कि, उन्होंने वास्तव में लैपटॉप और अन्य बड़े गैजेट्स के उपयोग को बदल दिया है। आज, लोग ई-मेल भेजते हैं, इंटरनेट ब्राउज़ करते हैं, सोशल मीडिया अकाउंट्स, पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन का प्रबंधन करते हैं, गणना करते हैं, और अपने स्मार्ट फोन का उपयोग करके बहुत कुछ करते हैं।

(2) मोबाइल फोन ने लोगो को, लोगो से जोड़ा है, इसके माध्यम से हम बिना किसी के पास जाये उससे बात कर सकते है। अब हम अपने दोस्तों, रिश्तेदारों से किसी भी समय कई ऐप्स के माध्यम से जुड़ सकते हैं। अब हम अपने मोबाइल फ़ोन या स्मार्टफ़ोन को संचालित करके, जिस किसी से भी चाहें, वीडियो चैट कर सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल हमें पूरी दुनिया के बारे में अपडेट भी रखता है।

(3) दैनिक यात्रियों के लिए मोबाइल फोन एक आशीर्वाद हो सकता है। आज के समय में मोबाइल फोन का उपयोग महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी किया जाने लगा है, किसी भी प्रकार की समस्या होने पर इसके एक बटन दवाते ही परिचितों के पास संदेश पहुंच जाता है और जिसे वे लोग उसे बचाने के लिए जल्दी पहुंच सकते है।

(4) मोबाइल फोन के माध्यम से दैनिक जीवन की गतिविधियों के लिए हमारे जीवन को बहुत ही सिंपल बना दिया है। आज, कोई मोबाइल फोन पर लाइव ट्रैफ़िक स्थिति का आकलन कर सकता है और समय पर पहुंचने के लिए उचित निर्णय ले सकता है। इसके साथ मौसम की जानकारी, कैब बुक करना, खाना ऑर्डर करना तथा शॉपिंग करना और भी बहुत कुछ।

(5) मोबाइल फोन का एक और दैनिक उपयोग महत्व यह है कि इसे मनोरंजन उपकरण के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है. जब भी हम नियमित काम से या ब्रेक के दौरान ऊब जाते हैं, तो आपके स्मार्ट फोन पर आराम करने के लिए कई चीजें होती हैं. कोई संगीत सुन सकता है, कोई योग कर सा सकता है उसको देखकर , कोई फिल्में देख सकता है या केवल एक पसंदीदा गीत का वीडियो देख सकता है।

(6) हमारे दैनिक जीवन में मोबाइल फोन का एक और महत्व है। आज पैसा भेजना या प्राप्त करना पहले जैसा आसान हो गया है। स्मार्टफोन में मोबाइल बैंकिंग का उपयोग करके दोस्तों, रिश्तेदारों या अन्य लोगों को पैसा लगभग तुरंत हस्तांतरित किया जा सकता है. इसके अलावा कोई भी आसानी से अपने खाते के विवरण तक पहुंच सकता है और पिछले लेनदेन को जान सकता है। लेन-देन मोबाइल फोन के उपयोग के साथ बहुत सुविधाजनक हो गए हैं, जिसके बजाय बैंक की यात्रा की आवश्यकता होगी।

(7) पहले बच्चे किसी चीज की जानकारी के लिए या तो हम अपने अध्यापक से पूछते थे, या बड़े या माँ बाप से. पहले ज्ञान किसी के द्वारा या सिर्फ किताब से मिलता था, पुस्तकालय जाकर किताब से ज्ञान लेना होता था, लेकिन अब बात अलग है, अब किसी भी बात को जानने के लिए क्या बच्चा क्या बड़ा सब तुरंत गूगल करते हैं। किसी सब्जेक्ट में परेशानी होने पर बच्चे तुरंत अपने दोस्त को फोन करके उसका जबाब पता कर लेते है, और लाइव चैट के द्वारा आमने सामने बैठ पढाई कर लेते है।

FasTag Kya Hai in Hindi

मोबाइल के नुकसान ( Disadvantages of Mobile) :-

(1) हम सभी जानते है कि किसी भी आविष्कार के जितने लाभ होते है, उससे कुछ न कुछ हानियां भी जरूर होती है। मोबाइल फोन के जितने लाभ हैं। वर्तमान में उतने ही इसके दुष्प्रभाव भी बढ़ते जा रहे है। जिस पर यदि समय रहते ध्यान नहीं दिया गया, तो भविष्य में हमें घातक परिणाम देखने को मिल सकते है। मोबाइल फ़ोन सुविधाजनक तो बहुत है, पर गलत हाथों में पड़कर इसका दुरुपयोग किया जाने लगा है। कुछ लोग दूसरों के समय का ध्यान रखकर समय-असमय फ़ोन कर देते हैं। इतना तो ठीक है पर मिसकाल से परेशान करने की चेष्टा दुखद होती है। कुछ युवा अनचाहे लोगों की फ़ोटो खींचकर परेशान करते हैं या अश्लील मैसेज भेजकर उन्हें बदनाम करने की कोशिश करते हैं।

(2) आज कल लोग अधिकतर समय मोबाइल चलाने में ही निकाल देते , इसके कारण उनकी आँखें कमजोर हो जाती है और साथ ही बच्चों को कम उम्र में मोबाइल दिए जाने के कारण उनका मन पढ़ने – लिखने में नहीं लगता है। मोबाइल फ़ोन में इंटरनेट उपलब्ध होने के कारण बच्चों को इससे गलत जानकारियाँ भी मिल सकती है, जिसके कारण उनका स्वभाव बिगड़ सकता है।

(3) मोबाइल फोन के अधिक उपयोग करने से विद्यार्थियों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है क्योंकि विद्यार्थी अपने साथियों के साथ पूरे दिन इसी में मनोरंजन के लिए संगीत और गेम खेलता रहतें है जिससे बार बार उनका ध्यान स्मार्ट फोन की तरफ ही जाता है। जिसके कारण उनके सुनने की शक्ति कमजोर हो जाती है.

(4) मोबाइल फोन के कारण दुर्घटनाएं भी अधिक घटित होने लगी है क्योंकि लोग वाहन चलाते समय मोबाइल पर बातें करते रहते है जिससे उनका ध्यान सड़क से हट जाता है और दुर्घटना घट जाती है।

(5) मोबाइल को ज्यादा देर तक कानों मे लगाये रखने से फोन से जो रेडिएशन निकलता रहता है जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। कुछ रिसर्च के अनुसार पता चला है कि मोबाइल फोन से निकलने वाले रेडिएशन के कारण कैंसर जैसी बीमारियां भी हो सकती है लेकिन अभी तक इसके पुख्ता परिणाम नहीं मिले है। फिर भी हमें मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते समय सावधानी बरतनी चाहिए।

(6) स्मार्ट फोन के ज्यादा इस्तेमाल से हम जरूरी कार्य समय पर नहीं कर पाते है. लोग बार-बार बिना किसी वजह के और टाइम पास करने के लिए मोबाइल फोन कहां इस्तेमाल करते रहते हैं जिसके कारण समय का दुरुपयोग होता है। लोग मोबाइल फोन का इस्तेमाल इतना करते हैं कि वह दिन भर तो मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं साथ ही वे रात को भी मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते रहते हैं जिसके कारण उन्हें अनिद्रा की बीमारी हो जाती है।

(7) मोबाइल फोन, गैजेट्स हो या फिर टीवी कंप्यूटर कुछ भी हो अगर हम इन का अधिक इस्तेमाल करते हैं तो हमारी एकाग्रता में कमी आ जाती है जिसके कारण हमारा कोई भी कार्य में मन नहीं लगता है इसका ज्यादा प्रभाव बच्चों पर पड़ता है जिसके कारण उनकी पढ़ाई प्रभावित होती है। लोगों के लिए अब यह फैंशन बनता जा रहा है। इसका अधिक प्रयोग उनकी कार्यक्षमता को घटा रहा है।

(8) अधिकतर लोग मोबाइल फोन मे ज्यादा समय बिताते हैं और अपने परिवार से दूर होते जा रहे है. आजकल सभी की आदत होती है, दिन भर काम करके घर लौटकर मोबाइल हाथ में ले लेते है और परिवार वालों के साथ बैठ कर भी किसी और दुनिया में रहते है.कहते है मोबाइल बाहरी दुनिया से तो जोड़ता है, लेकिन अपने आसपास की दुनिया से दूर करता जा रहा है. लोग फॅमिली टाइम को जरुरी नहीं समझते है, लेकिन ये बहुत जरुरी है।

निष्कर्ष (Conclusion ) :-

मोबाइल हमारी सुविधा के लिए बनाया गया है, इसके नुकसान को ध्यान में रखकर इसका प्रयोग किया जाना चाहिए। मोबाइल फोन का इस्तेमाल करें और इससे कुछ सीखें लेकिन इसको अपनी जिंदगी ना बनाएं। मोबाइल का अधिक प्रयोग नैतिक , चारित्रिक अथवा मानसिक , शारीरिक सभी प्रकार के विकास को प्रभावित करता है। विद्यार्थियों का यह कर्त्तव्य है कि सेलफोन के आकर्षण से अपने को दूर रखकर विद्याध्ययन करके अपने भविष्य को उज्ज्वल बनायें।

आशा है दोस्तों आपको मोबाइल ( Mobile phone Use in Hindi) पर लिखा गया लेख आपको जरूर पसंद आया होगा । आप इसे अपने सभी फ्रेंड्स के साथ शेयर करें । हमारा पोस्ट कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं तथा अपने सुझाव भी हमसे शेयर करें।

Leave a Reply