Comedy Story in Hindi : मुल्ला नसरुद्दीन होजा और उनका गधा

Comedy Story in Hindi , मुल्ला नसरुद्दीन होजा और उनका गधा मजाकिया कहानी , Mulla Nasruddin Hodja Comedy Story in Hindi , मुल्ला नसरुद्दीन और उनका गधा फनी हिंदी कहानी , कॉमेडी स्टोरी इन हिंदी , मजाकिया कहानी , funny kahaniya , comedy stories , comedy story hindi me

Comedy Story in Hindi : मुल्ला नसरुद्दीन होजा और उनका गधा

मुल्ला नसरुद्दीन होजा (Mulla Nasruddin Hodja) अपने गधे को बाज़ार में ले गए और उसे 30 दीनार में बेच दिया।

जिस व्यक्ति ने उसे खरीदा, उसने उस गधे को तुरंत उसी बाजार में नीलामी (auction) के लिए रख दिया।

वह एक किनारे खड़े होकर उस गधे की ढेर सारी खूबियों को चिल्ला-चिल्लाकर राहगीरों को बताने लगा।

“इस अच्छे जानवर को देखो!” वह और जोर-जोर से बोलने लगा – “क्या आपने कभी गधे के एक बेहतर नमूने को देखा है? देखो, यह कितना साफ और मजबूत है!”

वह उस गधे की ऐसी-ऐसी खूबियों (Merits) को गिनाने लगा जो कभी किसी ने अंदाजा भी नहीं लगाया होगा। तभी एक आदमी ने उसकी बोली 100 दीनार लगा दी।

तभी एक और आदमी आया और उसने उस गधे की बोली 150 दीनार लगायी। तभी तीसरे ने 200 दीनार की बोली लगायी।

मुल्ला नसरुद्दीन होजा (Mulla Nasruddin Hodja) को यह देखकर बड़ा ही आश्चर्य हो रहा था कि लोग गधे में इतनी दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

मुल्ला नसरुद्दीन होजा (Mulla Nasruddin Hodja) ने सोचा कि यह तो बड़ा ही काम का जानवर है, मैं ही बेवकूफ था , जो इसे साधारण जानवर समझे जा रहा था। यह तो लाखों में एक है।

मुल्ला नसरुद्दीन होजा (Mulla Nasruddin Hodja) अभी यह सोच ही रहे थे कि तभी उन्हें एहसास हुआ कि गधे के मालिक को एक अच्छी रकम मिल चुकी है , और अब वह नीलामी बंद ही करने वाला है।

मालिक ने कहा – “250 दिनार …एक … 250 दिनार ….दो …”

तभी मुल्ला नसरुद्दीन ने झट से उसकी बोली लगा दी – “280 दिनार!”

हा … हा … हा … हा … मुल्ला नसरुद्दीन होजा गए थे गधा बेचकर पैसा कमाने और अपने ही गधे को सबसे अच्छी रकम पर खरीदकर आ गए।


इसी तरह की फनी कहानी के लिए हमारे साथ जुड़े रहे :- CAREER JANKARI – कहानियां

AMAN RAHUL career JANKARI CEO & Founder

I’m Rahul Founder of careerjankari.in , Career jankari is a free Hub for knowledge about different fields of education and current affair news .

We first started as a local magazine in 2013 and in 2019 we started our online journey to severe the world with the most and unbiased news & educational Blog .

Leave a Reply